Tuesday, 17 September 2019

क्रिकेट से संन्यास लेने के बावजूद फिर से मैदान पर खेलने के लिए उतरे थे ये 4 खिलाड़ी

क्रिकेट एक ऐसा खेल है जहाँ हर दिन आप बड़े स्कोर या ज्यादा विकेट नहीं ले सकते। हर मैच में आपका प्रदर्शन अलग होता है। यही वजह है कि कभी-कभी लगातार अपने खराब प्रदर्शन को देखकर क्रिकेटर्स क्रिकेट से संन्यास ले लेते हैं। लेकिन आज हम आपको उन खिलाड़ियों से मिलवाने वाले हैं जो संन्यास लेने के बावजूद एक बार फिर से अपनी टीम के मैदान पर खेलने के लिए उतरे थे।
1. जवागल श्रीनाथ

Third party image reference
जवागल श्रीनाथ भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज हुआ करते थे। जो अपनी स्विंग गेंदबाजी से बल्लेबाजों को परेशान करने के लिए जाने जाते थे। जवागल श्रीनाथ का करियर शानदार रहा था इन्होनें साल 2002 में क्रिकेट को अलविदा कह दिया था। लेकिन सौरव गांगुली के कहने पर इन्होनें फिर से मैदान पर वापसी की थी, और 2003 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम को फाइनल में पहुंचने में अहम भूमिका निभाई थी।
2. जावेद मियांदाद

Third party image reference
जावेद मियांदाद पाकिस्तान क्रिकेट टीम के सबसे बड़े खिलाड़ियों में से एक रहे हैं। इनकी कप्तानी में पाकिस्तान टीम ने 6 बार वर्ल्ड कप भी खेला है। एक बेहतरीन कप्तान होने के साथ-साथ मियांदाद एक सफल बल्लेबाज भी रहे हैं। इन्होनें 124 टेस्ट मैचों में 8832 रन बनाए थे। जबकि 231 वनडे मैचों में 7381 रन बनाए थे। 1996 वर्ल्ड कप से पहले मियांदाद ने क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। लेकिन पाकिस्तान की प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो के कहने पर इन्होनें ठीक 10 दिनों पर मैदान पर फिर वापसी करने का फैसला किया था।
3. शाहिद अफरीदी

Third party image reference
शाहिद अफरीदी ने अनगिनत बार क्रिकेट से संन्यास लिया था। पहली बार इन्होनें साल 2010 में संन्यास लिया। लेकिन इसके बाद 2011 वर्ल्ड कप खेला। वर्ल्ड कप में भारत के हाथों हारने के बाद इन्होनें फिर से संन्यास की घोषणा की। लेकिन फिर भी ये खेलते रहे। आखिरकार इन्होनें 2016 में जाकर में क्रिकेट से संन्यास लिया।
4. कार्ल हूपर

Third party image reference
वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान कार्ल हूपर एक बेहतरीन ऑल-राउंडर खिलाड़ी रहे हैं। इन्होनें 1999 वर्ल्ड कप के बाद क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। लेकिन 2001 में इन्होनें फिर से मैदान पर वापसी की और 2003 विश्व कप में वेस्टइंडीज टीम की कप्तानी भी की।