Tuesday, 17 September 2019

टीम इंडिया में तीन बार चयन होने के बावजूद यह क्रिकेटर नहीं कर सका डेब्यू, क्या है असली वजह


Third party image reference
भारतीय क्रिकेट टीम में किसी भी क्रिकेटर के लिए जगह बनाना इतना आसान नहीं होता है, लेकिन कई बार ऐसा देखने को मिलता है कि अगर क्रिकेटर घरेलू क्रिकेट में काफी मेहनत करके टीम में जगह बना भी ले तो भारतीय टीम मैनेजमेंट बिना कोई मैच खेलाए उसे टीम से बाहर कर देती है। आज हम बात करेंगे एक ऐसे क्रिकेटर के बारे में जिसे एक बार दो बार नहीं बल्कि 3 बार टीम इंडिया में शामिल किया गया लेकिन टीम मैनेजमेंट ने उसे डेब्यू करने का मौका ही नहीं दिया।
चयन समिति ने तीन बार दिया मौका

Third party image reference
हम बात कर रहे हैं आईपीएल में सनराइजर्स हैदराबाद का प्रतिनिधित्व करने वाले विस्फोटक ऑलराउंडर दीपक हुड्डा के बारे में जो आईपीएल और घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करते हुए चर्चा में आए थे। घरेलू क्रिकेट में जलवा बिखेरने के बाद भारतीय क्रिकेट टीम की चयन समिति दीपक हुड्डा को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट टीम में जमुना नदी जिसमें उन्हें श्रीलंका के खिलाफ दो टी20 श्रृंखला एवं आज से कुछ समय पहले खेली गई निदाहास ट्रॉफी में टीम में शामिल किया गया था।
प्लेइंग इलेवन में नहीं मिल सका मौका

Third party image reference
लेकिन अनोखी बात यह रही कि रवि शास्त्री की नेतृत्व वाली टीम मैनेजमेंट ने दीपक हुडा को भारतीय T20 में डेब्यू करने का मौका भी नहीं दिया और कुछ ही दिन बाद उन्हें चयन समिति ने भी मौका देना बंद कर दिया और फिर वह टीम से बाहर हो गए। अब सबसे बड़ा सवाल यह है कि जब टीम मैनेजमेंट विजय शंकर जैसे क्रिकेटर को कई मौके देकर इस तरह आजमा सकती है तो दीपक हुडा को उन्हें टीम में शामिल करने में क्या परेशानी थी। आपको बता दें दीपक हुडा घरेलू क्रिकेट में एक पारी में नाबाद 293 रन ठोकने का रिकॉर्ड अपने नाम कर चुके हैं।