Sunday, 15 September 2019

कपिल देव बीसीसीआई से मिलने वाली पेंशन पर निर्भर नहीं, बल्कि खुद एक कंपनी के मालिक हैं

पूर्व भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान और भारत को पहली बार विश्वकप जिताने वाले कपिल देव बीसीसीआई से मिलने वाले भत्ते के भरोसे नहीं है बल्कि खुद अपनी आजीविका को चलाने में सक्षम हैं ये हम नहीं बल्कि खुद कपिल देव ने बताया हैं| पूर्व भारतीय महान ऑलराउंडर कपिल देव दिल्ली में एक बड़ा व्यवसाय चला रहे हैं| वो यूएस कंपनी के साथ एक लाइटिंग प्राइवेट कंपनी चलाते हैं| जो खेल के मैदान में फ्लडलाइट्स लगाने का काम करती है|

Third party image reference
कपिल ने एक खास बातचीत में इस बात का खुलासा किया हैं| उन्होंने अपने खेल के दौरान एक पूर्व भारतीय खिलाड़ी को बीसीसीआई के सचिव के कमरे के बाहर घंटों इंतजार करते हुए देखा था| कपिल ने बताया कि, “सचिव सो रहा था| मुझे उस दिन ने बहुत परेशान किया और निर्णय लिया कि मैं अपनी रिटायरमेंट के बाद वित्तीय सहायता के लिए बीसीसीआई पर निर्भर नहीं रहूँगा| मैंने पेंशन से एक भी पैसा नहीं लिया हैं|"

Third party image reference
“क्रिकेट ने मुझे भव्य जीवन प्रदान किया हैं और मुझे इसकी आदत सी हो गई है| जीने का एक निश्चित मानक था जिसे मैंने विकसित किया था और जब मैंने खेलना बंद कर दिया तो मैं इसे याद नहीं करना चाहता था| मैं अपने सबसे करीबी और प्रिय को देना चाहता था|"

Third party image reference
कपिल देव अपनी पत्नी रोमी के साथ मिल कर अपना ये बिजनेस चला रहे हैं और उनकी पत्नी ने कहा हैं कि, "वो एक प्यारे पिता(आमिया के लिए) हैं, एक अद्भूत पति और विश्वसनीय दोस्त हैं| वो अपने क्रिकेट, अपने परिवार और गोल्फ से बहुत प्यार करते हैं| अगर दिन का कार्यक्रम ज्यादा बिजी रहेगा तो वो अपने दोस्तों के साथ सुबह 5 बजे गोल्फ से होती हैं|"