Tuesday, 17 September 2019

भारत का सबसे साहसी बल्लेबाज, क्रीज़ से आगे आकर मारता था सबसे लम्बे छक्के


Third party image reference

भारत में वैसे तो एक से एक बढक़र धुरंधर बल्लेबाजों ने अपनी धाक जमाई है लेकिन, अगर टीम इंडिया के बल्लेबाजों को लेकर सबसे ज्यादा डेयरिंग शॉर्ट लगाने की बात करें तो सबसे ऊपर भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली का नाम आएगा। सौरव गांगुली की ऑस्ट्रेलिया के विरूद्ध टेस्ट सीरीज में खेली गई पारियां यादगार हैं जिन्हें आज तक याद किया जाता है। निडर होकर क्रीज से कई कदम आगे बढक़र शॉर्ट मारने का अंदाज आज भी दर्शकों को रोमांचित कर देता है।
बेशक, हर कोई 2001 की ऐतिहासिक श्रृंखला से परिचित है जहाँ भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 2-1 से हराकर अपने 16 मैचों की अपराजित लकीर को रोक दिया। इस सीरीज ने भारतीय क्रिकेट की नई परिभाषा लिख दी थी।

Third party image reference

गांगुली ने अपनी पहली दो टेस्ट पारियों में जो दो शतक बनाए, यह गाबा टेस्ट के दिन तीन में बदल गया। कप्तान ने शानदार 144 रन बनाए, जिसमें 18 चौके लगे, जिससे न केवल भारत को शर्मिंदगी झेलनी पड़ी, बल्कि अपनी बल्लेबाजी में जीवन के एक नया अध्याय भी लिखा। उन्होंने साहसी पारी के साथ ऑस्ट्रेलिया के आक्रमण को झेला। जिसमें ग्लेन मैकग्राथ, ब्रेट ली और शेन वार्न जैसे गेंदबाज थे।

Third party image reference

पारी, जैसे-जैसे आगे बढ़ी, गांगुली ने अपने ट्रेडमार्क के मुताबिक बेहतरीन खेल का प्रदर्शन किया। उनकी 18 में से चार चौके लेग-साइड पर आए। शॉर्ट बॉल के साथ गांगुली पर आक्रमण करने की चाल ने स्टीव वॉ के ऑस्ट्रेलिया पर अथक हमला करने की कोशिश की। गांगुली ने वीवीएस लक्ष्मण के साथ 146 रन की साझेदारी के साथ विकेट भी बनाए रखा।