Wednesday, 30 October 2019

एक समय पर था दुनिया का नंबर-1 गेंदबाज, लेकिन इस अनहोनी ने बर्बाद कर दिया करियर,जानें कहानी

खेली गई साल 2008 में भारत, ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के बीचआयोजित हुई त्रिकोणीय सीबी सीरीज जिन भारतीय फैंस ने देखी थी, उन्हें उस सीरीज के एक बेहतरीन गेंदबाज अब भी याद होगा। ये गेंदबाज थे ऑस्ट्रेलिया के नाथन ब्रेकन, जो उस सीरीज के हीरो थे।

Third party image reference
उस सीरीज में ब्रेकन ने अपनी घातक गेंदबाजी से भारत और श्रीलंका के बल्लेबाजों को खूब परेशान किया था। खैर भारत इस त्रिकोणीय सीरीज के दोनों फाइनल मैच में जीत हासिल करके चैंपियन बन गया था।

Third party image reference
ब्रेकन ने इस सीरीज के 10 मैच में 21 विकेट लिए, और सीरीज के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज बने। इसी साल जुलाई में ब्रेकन आईसीसी की गेंदबाजी रैंकिंग में डेनियल विटोरी को पीछे छोड़ते हुए नंबर-1 वनडे गेंदबाज भी बन गए।

Third party image reference
उन्हें आईसीसी द्वारा चुनी गई साल 2009 की वनडे टीम ऑफ़ द ईयर में शामिल किया गया था। इसके अलावा उन्हें साल 2009 में ऑस्ट्रेलिया के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर का ख़िताब मिला था। लेकिन शायद ब्रेकन की किस्मत में इससे ज्यादा सफलता नहीं लिखी थी।

Third party image reference
उन्हें घुटने की चोट के कारण साल 2009 में टीम से बाहर होना पड़ा। उनकी ये चोट इतनी ज्यादा गहरी थी, कि वो फिर कभी वापसी नहीं कर सके। ब्रेकन ने 17 सितम्बर 2009 को अपने करियर का आखिरी वनडे मैच खेला।

Third party image reference


इसके बाद ब्रेकन ने 29 जनवरी 2011 को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी। इस तरह से एक ऐसा खिलाड़ी, जो महान गेंदबाज बन सकता है, उसका करियर इतनी जल्दी खत्म हो गया। ब्रेकन ने कुल 116 वनडे मैच अपने करियर में खेले, और इसमें 174 विकेट चटकाए।