Sunday, 1 December 2019

पुरुषों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है ये पौधा, फायदे जानकर हैरान रह जाएंगे

नमस्कार दोस्तों, आप सभी का बहुत बहुत स्वागत है। आयुर्वेद में धतूरे का इस्तेमाल एक औषधि के तौर पर किया जाता है। क्योंकि इसमें हायोसायनीन और एट्रोपिन कम मात्रा में पाया जाता है। और साथ ही इसमें स्क्रोपोलेमिन एल्कलॉइड भी मौजूद होता है। इसलिए इसका इस्तेमाल कई तरह के रोगों को दूर करने में किया जाता है। तो चलिए जानते हैं धतूरे के इस्तेमाल से हमें क्या क्या फायदे होते हैं।

Third party image reference
1. धतूरे के पत्तों के रस को आग पर गढ़ा करके कान के पीछे आई सूजन को कम करने में सहायक होती है । आप इसके पत्तों को गर्म करके दो से तीन बूंद को कान में टपकाने से कान के दर्द से छुटकारा मिल जाता है ।
2. अगर आपकी आंखों में दर्द हो रहा है तो आप पके हुए धतूरे के पत्ते का रस और नीम के कोमल पत्तों का रस मिलाकर इसको डालने से आंखों के दर्द में काफी छुटकारा मिलता है ।
3. धतूरे का प्रयोग गंजेपन को दूर करने के लिए फायदेमंद साबित होता है। इसके रस को सिर पर मलने से न केवल डैंड्रफ ख़त्म होती है, बल्कि गंजेपन से भी छुटकारा मिलता है।

Third party image reference
4. नियमित रूप से धतूरे के रस और तिल के तेल की मालिश करने से जोड़ों की समस्या और गठिया जैसी समस्याओं से न केवल काफी हद तक निजात पाई जा सकती है बल्कि इस रोग को पूरी तरह से मिटाया भी जा सकता है ।
5. बुखार या कफ होने की स्थिति में लगभग 125 -250 मिलीग्राम धतूरे के बीज लेकर इसे जलाकर राख बना लें और इस राख को मरीज को दें। इससे बुखार या कफ गायब हो जाएगा।

Third party image reference
दोस्तों, अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो शेयर करें, लाइक करें और कमेंट कर अपने विचार जरूर बताएं ।