Tuesday, 3 December 2019

हैदराबाद डॉक्‍टर मर्डर: गैंगरेप फिर शव से रेप, उसके बाद जली लाश के पास वापस क्‍या करने आए थे दरिंदे?

हैदराबाद की राजधानी तेलंगाना में एक महिला डॉक्टर के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म और जिंदा जलाने की घटना ने पूरे देश को हिला कर रख दिया है। लोग गुस्‍से में हैं और दरिंदों के लिए मौत की सजा मांग रहे हैं। वहीं जैसे-जैसे जांच आग बढ़ रही है केस की कई ऐसी परतें सामने आ रही हैं जो हैवानियत की नई कहानी बयां कर रही हैं। जांच में ये तो सामने आ ही चुका था कि आरोपियों ने डॉक्टर को जबरन शराब पिलाने की कोशिश की थी। लेकिन अब ये बात सामने आई है कि डॉक्टर की हत्या करने और उसे जला देने के बाद फरार हुए आरोपी लाश के पास वापस भी आए थे। विस्‍तार से जानिए क्‍यों?

ये देखने वापस आए थे आरोपी

गैंगरेप और फिर हत्‍या के बाद डॉक्‍टर को अंडरपास के नीचे जलाने के बाद वहां से फरार आरोपी वापसा आए थे। वो ये चेक करने के लिए आए कि शव ठीक से जली या नहीं और कहीं मौके पर कोई सबूत न रह गया हो। उन्‍होंने सबूत मिटाने के मकसद से आसपास के इलाकों का कई बार चक्‍कर भी काटा था। इतना ही नहीं आरोपी कुछ दूर जाकर काफी देर तक लाश को जलता हुए देख रहे थे।

आगे-आगे स्‍कूटी, पीछे ट्रक में थी लाश, ठिकाने लगाने से पहले की रेकी

गैंगरेप पीड़िता की हत्या करने के बाद ये आरोपी लाश लेकर शादनगर और शमशाबाद के बीच हाईवे (एनएच 44) पर कई बार चक्कर लगाए। ये दरअसल शव को ठिकाने लगाने के लिए उपयुक्त जगह का तलाश कर रहे थे। जांच में यह बात सामने आई है कि दो आरोपियों शिवा और नवीन ने पहले नैशनल हाइवे 44 पर शम्शाबाद और शादनगर के बीच पहले रास्ते की रेकी की। वहीं, उन्होंने चट्टनपल्ली गांव में एक अंडरपास के नीचे शव को जलाया था। ये दोनों पीड़िता की बाइक से आगे चल रहे थे जबकि शव के साथ बाकी दोनों आरोपी ट्रक में थे। शिवा और नवीन पहले दो-तीन दूसरी जगहें भी खोजी थीं लेकिन लोगों के होने की वजह से वहां नहीं रुके।

पहले जबरन शराब पिलाने की हुई थी कोशिश

पुलिस से प्राप्‍त जानकारी के मुताबिक डॉक्टर का गायब हुआ मोबाइल फोन ट्रेस कर लिया गया है। हालांकि, इस बारे में पुलिस ने कोई जानकारी नहीं दी है और उनका कहना है कि फोन की जांच की जा रही है। पुलिस ने यह भी नहीं बताया है कि फोन कब बरामद किया गया। इससे पहले यह जानकारी भी सामने आई थी कि वारदात के समय आरोपियों ने महिला डॉक्टर को जबरन शराब पिलाने की कोशिश की थी, लेकिन पीड़िता ने पीने से मना कर दिया।