Tuesday, 25 February 2020

भुलकर भी घर में न रखें ऐसा बेलन वरना हो जाओगे कंगाल



वास्तु का हमारे जीवन में बड़ा महत्व माना जाता हैं और हर चीज की एक विशेष ऊर्जा होती हैं। ऐसे में रसोई से जुड़ी चीजों का भी वास्तु में बड़ा महत्व माना जाता हैं। खासतौर से घर के सदस्यों का भरण-पोषण करने वाले चकला-बेलन का। जी हां, इनसे जुड़े वास्तु दोष आपके आर्थिक तंगी का कारण बन सकते हैं। तो चलिए जानते हैं चकला-बेलन से जुड़े नियमों के बारे में जिनपर ध्यान देना बहुत जरूरी और आपके लिए फायदेमंद हैं।


चकला बेलन की सफाई

रात सोने से पहले चकला बेलन अच्छे से धोकर रखना न भूलें। कुछ लोग 1 या 2 दिन छोड़कर इसे साफ करते हैं, मगर ऐसा करना जहां सेहत को नुकसान पहुंचाता है वहीं घर में वास्तु दोष भी पैदा होते हैं।

चकला बेलन आवाज करे तो...

रोटी बेलने पर यदि चकला बेलन आवाज करे तो इससे भी घर में दोष पैदा होते हैं। चकले का इस तरह आवाज करना जीवन में आर्थिक तंगी की वजह बनता है।

चकला-बेलन खरीदने का सही समय

चकला-बेलन खरीदते वक्त भी शुभ मुहूर्त का ध्यान रखें। अगर लकड़ी का चकला खरीदने जा रहे हैं तो इसे पंचाक, मंगलवार और शनिवार के दिन बिल्कुल न खरीदें। बुधवार का दिन किसी भी तरह का सामान खरीदने के नाते शुभ माना जाता है। ऐसे में कोशिश करें इसी दिन चकला और बेलन खरीदें।

रोटी बेलते वक्त आ रही आवाज का जल्द से जल्द समाधान निकालें। अगर दोष चकला-बेलन में हैं तो उसे तुरंत बदलें, नहीं तो रोटी बनाने की जगह भी बदलकर देख सकते हैं।