Wednesday, 5 February 2020

निर्भया केस: दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई कल



 निर्भया केस में दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले को केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। केंद्र सरकार ने शीर्ष न्यायालय से इस मामले में तुरंत सुनवाई की मांग की लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने तुरंत सुनवाई से इनकार कर दिया। अब इस मामले पर शुक्रवार को सुनवाई होगी। बता दें कि निर्भया केस में केंद्र की याचिका पर हाईकोर्ट ने दोषियों को अलग-अलग फांसी की इजाजत नहीं दी थी।
दिल्ली हाईकोर्ट ने बुधवार को कहा था कि निर्भया गैंगरेप और हत्या के मामले के चारों दोषियों को एक साथ फांसी दी जाए, न कि अलग- अलग। कोर्ट ने दोषियों के लिए शेष कानूनी पहलुओं का इस्तेमाल करने के लिए सात दिन की समयसीमा तय की, लेकिन निचली अदालत के अनिश्चितकाल के लिए फांसी टालने के आदेश पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था ।
इस बीच, अक्षय की दया याचिका को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने खारिज कर दिया। केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि राष्ट्रपति ने कुछ दिन पहले अक्षय की दया याचिका को खारिज कर दिया। इससे पहले उच्चतम न्यायालय ने उसकी सुधारात्मक याचिका खारिज कर दी थी। बता दें कि राष्ट्रपति पहले ही मुकेश और विनय की दया याचिकाओं को खारिज कर चुके हैं। शीर्ष अदालत ने उनकी सुधारात्मक याचिकाएं खारिज कर दी थीं।