Wednesday, 5 February 2020

Ross Taylor को जीवनदान देना महंगा साबित हुआ, Kuldeep Yadav बने विलेन


हैमिल्टन। Ross Taylor के नाबाद शतक (109) से न्यूजीलैंड ने बुधवार को भारत पर पहले इंटरनेशनल वनडे मैच में यादगार जीत दर्ज की। भारत ने इस मैच में श्रेयस अय्यर के पहले शतक (103) की मदद से 4 विकेट पर 347 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था इसके बावजूद उसे हार झेलनी पड़ी। Kuldeep Yadav मैच में विलेन बनकर उभरे क्योंकि उन्होंने Ross Taylor का उस वक्त कैच छोड़ा था जब वे मात्र 10 रन बनाकर खेल रहे थे। इसके अलावा Kuldeep Yadav इस मैच में बेहद महंगे साबित हुए और उन्होंने जमकर रन लुटाए।
भारत ने जब न्यूजीलैंड के सामने 348 रनों का टारगेट रखा था तो हर कोई यह मानकर चल रहा था कि मेहमान टीम यह मैच आसानी से जीत लेगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ। Ross Taylor, हैनरी निकोल्स और कप्तान टॉम लाथम की पारियों से न्यूजीलैंड ने यह विशाल टारगेट हासिल कर लिया। Ross Taylor जब मात्र 10 रनों पर थे तब रवींद्र जडेजा की गेंद पर Kuldeep Yadav ने बैकवर्ड स्क्वेयर लेग पर उनका कैच छोड़ा था। उस वक्त कीवी टीम का स्कोर 2 विकेट पर 122 रन था।
इसके बाद Ross Taylor ने 84 गेंदों पर 8 चौकों और 2 छक्कों की मदद से 109 रनों की नाबाद पारी खेली और टीम को जीत दिलाकर लौटे थे। उन्होंने हैनरी निकोल्स (78) के साथ तीसरे विकेट के लिए 62 और टॉम लाथम (69) के साथ चौथे विकेट के लिए 136 रनों की भागीदारी कर भारत के मुंह से जीत का निवाला छीन लिया। Kuldeep Yadav ने यदि वह कैच नहीं छोड़ा होता तो मैच का परिणाम अलग हो सकता था क्योंकि मेजबान टीम की पारी को संभालने के लिए Ross Taylor के अलावा कोई और सीनियर खिलाड़ी नहीं था।
खर्चीले साबित हुए कुलदीप :
Kuldeep Yadav ने यह कैच तो छोड़ा ही इसी के साथ वे मैच में भारत के सबसे महंगे गेंदबाज भी साबित हुए। युजवेंद्र चहल की बजाए टीम में शामिल किए गए कुलदीप यादव ने मैच में 8.4 की औसत से 84 रन दिए और वे 2 विकेट लेने में सफल रहे। Kuldeep Yadav इसी के साथ किसी इंटरनेशनल वनडे में भारत की तरफ से तीसरे ज्यादा रन लुटाने वाले स्पिनर बन गए। इस मामले में युजवेंद्र चहल (88) और पीयूष चावला (85) उनसे आगे हैं। चहल ने 2019 में बर्मिंघम में इंग्लैंड के खिलाफ और चावला ने 2008 में ढाका में पाकिस्तान के खिलाफ इतने रन लुटाए थे।