Wednesday, 5 February 2020

UPCA में भ्रष्टाचार को लेकर याचिका पर हाईकोर्ट ने BCCI से मांगी रिपोर्ट


प्रयागराज. इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने उत्तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन (UPCA) का गठन लोढ़ा कमेटी की रिपोर्ट के अनुरूप न होने व अनियमतिता को लेकर दाखिल याचिका पर बीसीसीआई (BCCI) से एक सप्ताह में रिपोर्ट तलब की है. हाईकोर्ट ने बीसीसीआई के अधिवक्ता कुणाल रवि सिंह से यह रिपोर्ट हलफनामे के माध्यम से दाखिल करने को कहा है. यह आदेश न्यायमूर्ति बिश्वनाथ सोमद्दर एवं न्यायमूर्ति डॉ. वाईके श्रीवास्तव की खंडपीठ ने अविनाश कुमार राय की ओर से दाखिल याचिका पर सुनवाई करते हुए दिया है.

याचिका में यूपीसीए के गठन पर ही सवाल उठाया गया है. कहा गया है कि यूपीसीए का गठन लोढ़ा कमेटी की सिफारिश के मुताबिक नहीं है. कहा गया है कि यूपीसीए का आर्टिकिल ऑफ एसोसिएशन और इसकी चयन समितियां भी लोढा कमेटी की रिपोर्ट के अनुरूप नहीं हैं.

सोसाइटी का फंड कंपनी को ट्रांसफर, मगर कोई अनुमति नहीं ली गई

कहा गया है कि यूपीसीए पहले सोसाइटी में रजिस्टर्ड था, जो अब कंपनी एक्ट में रजिस्टर्ड है. साथ ही सोसाइटी का फंड कंपनी को ट्रांसफर कर दिया गया और इसके लिए नियमानुसार कोई अनुमति भी नहीं ली गई. सुनवाई के बाद खंडपीठ ने याचिका में पक्षकार बीसीसीआई से एक सप्ताह में रिपोर्ट दाखिल करने को कहा है. :