Sunday, 29 March 2020

सिपाही की पत्नी ने रात तीन बजे किया ऐसा गलत काम की जानकर सभी लोग हैं हैरान…


छत्तीसगढ़ पुलिस के एक बर्खास्त सिपाही की बीवी सुपेला पुलिस थाने से फरार हो गई। उसे पति व एक अन्य के साथ धोखाधड़ी के मामले में पकड़ा गया था। पुलिस थाने के भाग जाने के बाद दोपहर को ही वह बिलासपुर से ​स्थित अपने रिश्तेदार के घर से दुबारा पुलिस के हत्थे भी चढ़ गई। सुपेला थाना के टीआई बीएस कुशवाह ने बताया कि छत्तीसगढ़ के दुर्ग की खंडेलवाल कॉलोनी निवासी सर्राफा व्यवसायी आदर्श जैन ने मंगलवार को शिकायत दी थी कि बर्खास्त आरक्षक इमरान कादरी, उसकी पत्नी विशाखा और दोस्त साहबुद्दीन ने को उससे संपर्क किया। फोन पर कहा कि सोने चांदी के जेवर है। 
तीनों आरोपी को व्यवसायी से मिले। बिना बिल से आभूषणों का सौदा करने आ गए। व्यवसायी ने आरोपियों को तीन लाख रुपए एडवांस दे दिया। तीनों सोने के जेवर दिए और चले गए। व्यवसायी ने आभूषणों की जांच कराई तो वह नकली निकले। इसके बाद पुलिस ने तीनों को पकड़ लिया था। रायपुर की विशाखा को महिला थाने में रखा गया था। जबकि पति इमरान कादरी व उसके दोस्त साहबुद्दीन को सुपेला में रखा गया था। सुपेला थाने में पदस्थ महिला सिपाही ममता वासनिक जालसाज महिला विशाखा को लिखा पढ़ी करने के बाद उसे महिला थाने लेकर गई थी। सूत्रों के मुताबिक महिला थाने में रात को आरक्षक सेवंती कुसरे व हुसली यादव की तैनाती थी। 
सुपेला की महिला आरक्षक ने आरोपी को महिला कैदी वार्ड में बंद कर दिया। थाने में मौजूद तीनों महिला आरक्षक आरोपी की सुरक्षा का नजरअंदाज करके बेफ्रिक हो गई। रात करीब साढ़े तीन बजे महिला आरोपी थाने के शटर गेट पर लगे ताले को खोला और भाग गई। रात को भाग कर वह स्टेशन पहुंच गई। ट्रेन के जरिए वह बिलासपुर स्थित अपने रिश्तेदार के घर पहुंच गई थी।