Friday, 27 March 2020

किट की जगह अब वर्दी में उतरे खिलाड़ी, कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में लगा रहे जान


खेल के मैदान पर देश का परचम लहराने वाले कुछ भारतीय खिलाड़ी इस समय कोविड 19 के खिलाफ लड़ाई में देशव्यापी बंद के दौरान पुलिस की अपनी ड्यूटी निभाते हुए सड़कों पर उतरकर लोगों से अपने घरों में रहने का आग्रह कर रहे हैं। विश्व कप विजेता क्रिकेटर जोगिंदर शर्मा, भारतीय हाकी टीम के पूर्व कप्तान राजपाल सिंह, राष्ट्रमंडल खेल स्वर्ण पदक विजेता मुक्केबाज अखिल कुमार और एशियाई खेल चैम्पियन कबड्डी खिलाड़ी अजय ठाकुर सभी पूर्णकालिक पुलिस अधिकारी हैं और खेल जगत में उनकी उपलब्धियों के कारण उन्हें यह नौकरी मिली है। जोगिंदर शर्मा : डीएसपी हरियाणा पुलिस (2007 टी-20 विश्वकप फाइनल के हीरो)
इस समय एक अलग तरह की चुनौती सामने है। हमारी ड्यूटी सुबह छह बजे से शुरू हो जाती है जिसमें लोगों को जागरूक करना, बंद का पालन करना और चिकित्सा सुविधायें देना शामिल है।
राजपाल सिंह: मोहाली में डीएसपी (भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान)
मैं पुलिस की पूर्णकालिक नौकरी कर रहा हूं और इस समय मुख्य काम लॉकडाउन का पालन कराना है। इसके साथ ही जरूरतमंदों को जरूरी चीजें मुहैया कराने पर भी हमारा जोर है।
मुक्केबाज अखिल कुमार : डीएसपी, गुरुग्राम (2006 राष्ट्रमंडल खेलों के चैंपियन)
लोग सहयोग कर रहे हैं। जरूरी सामान मिलने से ज्यादा घबराहट भी नहीं है। लॉकडाउन का सख्ती से पालन करने से ही यह वायरस रूक सकेगा। लोग भी समझ रहे हैं।
मुक्केबाज जितेंद्र कुमार : डीएसपी हरियाणा पुलिस, रेवाड़ी (2006 राष्ट्रमंडल खेल पदक विजेता)
हम अपनी ओर से पूरी कोशिश कर रहे हैं । हम जमीन से जुड़े हैं और हमें पता है कि भूख क्या होती है।'
अजय ठाकुर, हिमाचल प्रदेश पुलिस, बिलासपुर (2016 कबड्डी विश्व कप विजेता टीम के सदस्य)
हम मास्क, दस्ताने और सैनिटाइजर्स लेकर चलते हैं लेकिन सबसे बड़ी सुरक्षा यही है कि लोग सड़क पर नहीं उतरे।