Sunday, 29 March 2020

निर्भया केस: फांसी पर लटकाने वाले जल्लाद को मिले इतने लाख रूपए, रच दिया इतिहास


आज तिहाड़ जेल में निर्भया केस के चारों दोषियों को सुबह 5:30 बजे फांसी दे दी गई. आपको बता दें कि दोषियों को फांसी पर झुलाने वाले जल्लाद का नाम पवन है और वो उत्तर प्रदेश के मेरठ के रहने वाले हैं. बताते चलें कि पवन जल्लाद का परिवार कई पीढ़ियों से जल्लाद का काम ही कर रहा है. चलिए जानते है पवन जल्लाद के बारे में विस्तार से.

Third party image reference
कुछ दिनों से चर्चा का विषय रहे पवन ने चारों दोषियों को एक साथ फांसी पर लटकाकर अपना नाम इतिहास में दर्ज करा लिया है. एक ही अपराध के लिए चार दोषियों को एक साथ फांसी देने का ये रिकॉर्ड अब पवन के नाम हो गया है. जानकारी के लिए बता दें कि एक इंटरव्यू में पवन जल्लाद ने बताया था कि, ‘’मैं पुश्तैनी जल्लाद हूं. मेरे परदादा लक्ष्मन, दादा कालू उर्फ कल्लू, पिता मम्मू भी जल्लाद थे. मैंने भी अपने पुरखों के साथ फांसी लगाने में हिस्सा लिया है.
अपने दादा और पिता से सिखी फांसी लगाने की कला

Third party image reference
फांसी लगाना बच्चों का खेल नहीं है यह बल्कि एक बहुत बड़ी जिम्मेदारी होती है, क्योंकि जल्लाद की एक गलती का खामियाजा फांसी पर टंगने वाले को बहुत बुरे हाल में ला सकता है. पवन ने बताया कि उसने, दादा कालू राम जल्लाद के साथ 20-22 साल की उम्र में दो सगे भाइयों की फांसी लगवाई थी. वो फांसी पटियाला सेंट्रल जेल में लगाई गई थी. इस वक़्त पवन की उम्र करीब 58 साल है.
तिहाड़ से मिले इतने पैसे
आपको बता दें कि पवन जल्लाद ने बताया कि, तमाम उम्र मुजरिमों को फांसी पर लटकाते रहने के बाद भी वो गरीब ही है. इस बार निर्भया के चारों मुजरिमों को फांसी पर लटकाने पर उसे बढ़ा हुआ मेहनताना मिलेगा जो करीब 1 लाख रुपए है. पवन जल्लाद ने बताया की वो इन पैसे से अपनी बेटी की शादी करेगा.
दोस्तों पोस्ट को लाइक, शेयर और हमें फॉलो करना न भूले।