Monday, 23 March 2020

कंगना ने जन्मदिन पर पूजा कर लिया माता-पिता का आशीर्वाद, रंगोली ने भी वीडियो पोस्ट कर किया विश


बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रानौत ने 23 मार्च को अपना 33वां जन्मदिन सेलिब्रेट किया. सेलेब्स यूं तो अपना जन्मदिन बड़े ही स्पेशल अंदाज़ में सेलिब्रेट करते हैं, लेकिन इस वक्त देश के कई शहर लॉकडाउन हैं जिसमें मुंबई भी शामिल है. इस वजह से कंगना ने अपना जन्मदिन घर पर ही अपने दोस्तों के साथ मनाया. कगंना की बहन रंगोली चंदेल ने अपने ट्विटर अकाउंट पर बर्थडे सेलिब्रेशन का एक स्नीक पीक वीडियो शेयर किया है. जिसमें वह अपने दोस्तों के साथ मस्ती करती नजर आ रही हैं.
Guess who baked that cake with limited ingredients?
Truly yours ...🤓
P.S we all are staying inside the same house so technically we are all in it ( isolation) together 🥰
108 people are talking about this
रंगोली ने वीडियो के साथ एक कैप्शन भी लिखा है जिसमें उन्होंने बताया है कि कंगना अपने जन्मदिन पर जो काट रही हैं वह दरअसल उन्होंने ही बेक किया है. बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ने अपना जन्म दिन मनाली स्थित अपने बंगले में मनाया. उन्होंने अपने पूरे परिवार के साथ यहां जन्मदिन पर सुबह नव गृह की पूजा की और साथ में कन्या पूजन भी किया. इस दौरान उन्होंने देशभक्ति का गीत भी गुनगुनाया. जिसका वीडियो कंगना की वहन रंगोली ने सोशल मीडिया में अपलोड किया है.

कंगना ने इस मौके पर देश की स्वतंत्रता के लिए शहीद हुए भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को याद करते हुए सांस थमती गई, नब्ज जमती गई, बढ़ते कदमों को हमने न रूकने दिया. अब तुम्हारे हवाले बतन साथियों देशभक्ति का गीत गुनगुनाया. इसके साथ ही कंगना ने उन्हें जन्म दिन की बधाइयां देने वालों का भी आभार जताया. कंगना पिछले दिनों अपने मनाली स्थित बंगले में पहुंची हैं. जाे अपने जन्मदिन मनाने की योजना बनाकर मनाली पहुंची थीं. 23 मार्च को कंगना का जन्म दिन था, ऐसे में कंगना ने अपने माता-पिता का भी इस मौके पर आशीर्वाद लिया और कन्या पूजन किया.

इससे पहले रंगोली ने कंगना को उनकी बचपन की एक क्यूट फोटो के साथ बर्थडे विश किया था. रंगोली ने जो फोटो शेयर की थी उसमें कंगना अपने पिता के बगल में बैठकर पढ़ाई करती दिख रही थीं. फोटो शेयर करने के साथ उन्होंने लिखा था, 'हैप्पी बर्थडे छोटू. गर्मियों की शाम को पापा हमारा होमवर्क करा रहे थे हम बहुत शांत दिख रहे हैं पर हमारी बोन मौरो तक कांप रही थी.'