Saturday, 28 March 2020

ICC ने कोरोनावायरस के खिलाफ जंग में क्रिकेटर जोगिंदर शर्मा को किया सलाम


आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप 2007 के फाइनल ओवर के हीरो जोगिंदर शर्मा को आईसीसी ने सलाम किया है। इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल ने जोगिंदर शर्मा को इस बार कोरोनावायरस के खिलाफ जंग में उनके योगदान के लिए सलाम किया है। खेल के मैदान पर देश का परचम लहराने वाले कुछ भारतीय खिलाड़ी इस समय कोविड 19 के खिलाफ लड़ाई में देशव्यापी बंद के दौरान पुलिस की अपनी ड्यूटी निभाते हुए सड़कों पर उतरकर लोगों से अपने घरों में रहने का आग्रह कर रहे हैं।
विश्व कप विजेता क्रिकेटर जोगिंदर शर्मा हरियाणा पुलिस में डिप्टी सुपरिटेंडेंड हैं और इस वक्त कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई में अपना योगदान दे रहे हैं। टी20 विश्व कप 2007 में फाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ चमत्कारिक आखिरी ओवर डालने वाले जोगिंदर शर्मा पुलिस ड्यूटी कर रहे हैं।
ऐसे में घर से बाहर निकलकर लोगों के लिए काम करने वाले इस हीरो की आईसीसी ने तारीफ की है। इस रियल हीरो की तारीफ करते हुए आईसीसी ने ट्वीट किया- 2007: टी-20 वर्ल्ड कप हीरो, 2020: दुनिया के रियल हीरो।
2007: hero 🏆
2020: Real world hero 💪

In his post-cricket career as a policeman, India's Joginder Sharma is among those doing their bit amid a global health crisis.

[📷 Joginder Sharma]
View image on Twitter
4,879 people are talking about this
जोगिंदर शर्मा ने कहा, ''मैं 2007 से हरियाणा पुलिस में डीएसपी हूं। इस समय एक अलग तरह की चुनौती सामने है। हमारी ड्यूटी सुबह छह बजे से शुरू हो जाती है जिसमें लोगों को जागरूक करना, बंद का पालन करना और चिकित्सा सुविधाएं देना शामिल है।''
*Prevention is the only cure for Coronavirus,Let’s be together and fight with this Pandemic situation..Please cooperate with us* Jai Hind
View image on TwitterView image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter
116 people are talking about this
बता दें कि पाकिस्तान के खिलाफ टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल में टीम इंडिया ने आखिरी ओवर में नाटकीय ढंग से मैच जीता था। पाकिस्तान को आखिरी ओवर में 13 रनों की दरकार थी और क्रीज पर मिसबाह उल हक और मोहम्मद आसिफ मौजूद थे। कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी के सामने आखिरी ओवर कराने के लिए हरभजन सिंह और जोगिंदर शर्मा के रूप में दो ऑप्शन थे। धौनी ने गेंद जोगिंदर को पकड़ाई और पूरा क्रिकेट जगत सन्न रह गया था। पहली गेंद जोगिंदर ने वाइड फेंक दी। पाक को अब 6 गेंद पर 12 रनों की दरकार थी।
ओवर की पहली लीगल डिलीवर डॉट बॉल। लेकिन दूसरी गेंद पर मिसबाह ने छक्का जड़ डाला। यहां से लगा कि मैच टीम इंडिया की पहुंच से बाहर गया। लेकिन इसके बाद जो कुछ भी हुआ वो इतिहास बन गया। जोगिंदर शर्मा ने 2007 टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल मैच में पाकिस्तान के खिलाफ आखिरी ओवर फेंका था और मिसबाह उल हक को श्रीसंत के हाथों कैच कराकर भारत को टी20 वर्ल्ड चैंपियन बनाया था।

Dailyhunt