Tuesday, 14 April 2020

3 मई तक लॉकडाउन बढ़ा: जानिए IPL 2020 का क्या होगा?


देश में लॉकडाउन3 मई तक बढ़ा दिए जाने की वजह सेआईपीएल फिर टल गया है। बीसीसीआई के सूत्रों ने मंगलवार दोपहर यह जानकारी दी।
भास्कर डॉट कॉम पर छपी खबर के अनुसार, बोर्ड सूत्रों ने अभी यह नहीं बताया है कि अबआईपीएल का शेड्यूल क्या होगा। हालांकि, मौजूदा हालात और इंटरनेशनल शेड्यूल के चलते इसका दिसंबर के पहले होना मुश्किल लग रहा है।
जून से सितंबर तक मानसून सीजन रहता है। 18 अक्टूबर से ऑस्ट्रेलिया में टी-20 वर्ल्ड कप भी खेला जाना है। यह मध्य नवंबर तक चलेगा।
इसके बाद भी टीमों की आपसी सीरीज का कैलेंडर तय रहता है। इस शेड्यूल के बीच ही बीसीसीआई को आईपीएल के लिए खाली तारीखें तलाशनी होंगी।
ऐसा होता है तो भी दिसंबर के पहले आईपीएल होना संभव नहीं लग रहा है।इन स्थितियों में आईपीएल का फॉर्मेट भी पहले से छोटा हो सकता है।
पहले यह टूर्नामेंट 29 मार्च से शुरू होना था, लेकिन कोरोना और वीजा प्रतिबंध के कारण 15 अप्रैल तक के लिए इसे टाल दिया गया था।
इस बार आईपीएल 50 दिन की बजाए 44 दिन का होना था। सभी 8 टीमों को 9 शहरों में 14-14 मैच खेलने हैं। इनके अलावा 2 सेमीफाइनल, 1 नॉकआउट और 24 मई को वानखेड़े में फाइनल होना था,लेकिन बीसीसीआई अब इसका फॉर्मेट और छोटा करके 2009 की तरह 37 दिन का कर सकती है।
2009 में लोकसभा चुनाव के कारण आईपीएल दक्षिण अफ्रीका में खेला गया था। यह पांच सप्ताह और दो दिन के अंदर खत्म हो गया था।
सितंबर में यूएई में एशिया कप टी-20 खेला जाना है। इसके बाद अक्टूबर 18 अक्टूबर से 15 नवंबर तक ऑस्ट्रेलिया में आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप भी खेला जाना है।
हालांकि, एशिया कप और वर्ल्ड कप को लेकर अभी स्थिति साफ नहीं है। एशिया कप टलने की संभावना है। बीसीसीआई इन शेड्यूल को ध्यान में रखकर आईपीएल का कार्यक्रम तैयार कर सकता है।
As the lockdown has been extended till May 3 by the government, we will postpone the Indian Premier League for the time being: BCCI Sources
View image on Twitter
539 people are talking about this
बोर्ड सूत्रों की मानें तो एशिया कप और वर्ल्ड कप होने की स्थिति में आईपीएल की संभावना नवंबर के आखिर से पूरे दिसंबर तक हो सकती है।
भारत में मानसून सीजन 1 जून से 30 सितंबर तक होता है। हालांकि, इस पैटर्न में बदलाव देखा जा रहा है। देश के ज्यादातर हिस्सों में यह 15 जून तक ही सक्रिय हो पाता है।
यही वजह है कि आईएमडी कुछ राज्यों की संभावित मानसून तारीखों में बदलाव पर विचार कर रहा है। मौसम संबंधी जानकारी देने वाली अमेरिकी कंपनी 'वेदर' के मुताबिक, इस बार मानसून 30 मई तक केरल के तट से टकराएगा।
अल नीनो की बजाए ला नीना की स्थितियां बनेंगी। लगातार दूसरी साल सामान्य से ज्यादा बारिश होगी। आईपीएल के संदर्भ में बात करें तो मानसून को देखते हुए जून से मध्य अक्टूबर तक इसका भारत में होना लगभग नामुमकिन है।
बीसीसीआई अध्यक्ष गांगुली ने रविवार को कहा था, ''हम परिस्थितियों पर नजर बनाए हुए हैं। फिलहाल की स्थिति में कुछ भी स्पष्ट नहीं कहा जा सकता है।
अब कोई तरीका नहीं बचा है। एयरपोर्ट बंद है, लोग घरों में कैद रहने को मजबूर हैं। सभी ऑफिस बंद हैं। कोई कहीं आ या जा नहीं सकता। यह स्थिति आधी मई तक रहने की संभावना है।
ऐसी स्थिति में खिलाड़ियों को कहां से लाएंगे और उन्हें यात्रा कैसे कराएंगे। कॉमन सेंस है कि यह स्थिति दुनियाभर में किसी भी खेल के अनुसार नहीं है। आईपीएल को भूलें।
गांगुली ने कहा था, ''इस समय स्थिति काफी भयानक है। मैंने ऐसा अनुभव अपने 46 साल के जीवन में कभी नहीं किया है। पूरी दुनिया ने भी कभी ऐसे हालात नहीं देखे होंगे। मुझे लगता है कि कोई भी ऐसा अनुभव दोबारा नहीं करना चाहेगा।
पूरी दुनिया लोग सिर्फ यही सोच रही हैं कि अगले दो हफ्ते कितने लोग और मरेंगे। यह भयावह है।''
बीसीसीआई के एक अधिकारी ने न्यूज एजेंसी को बताया, ''आईपीएल को तत्काल प्रभाव से रद्द नहीं किया जा सकता है। इसके अनिश्चितकाल के लिए टलने की पूरी संभावना है। यदि आईपीएल रद्द होता है, तो करीब 3 हजार करोड़ रुपए का नुकसान होगा।''
इस बार आईपीएल नीलामी में 62 खिलाड़ी बिके, जिनमें 33 भारतीय और 29 विदेशी हैं। फ्रेंचाइजियों ने इन खिलाड़ियों को खरीदने में 140.3 करोड़ रुपए खर्च किए थे।
ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज पैट कमिंस आईपीएल इतिहास के सबसे महंगे विदेशी खिलाड़ी बन गए। उन्हें कोलकाता नाइटराइडर्स (केकेआर) ने 15.5 करोड़ रुपए में खरीदा।

उनके हमवतन ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल को किंग्स इलेवन पंजाब ने 10.75 करोड़ रुपए में खरीदा। दक्षिण अफ्रीका के क्रिस मॉरिस 10 करोड़ रुपए में बिके, उन्हें रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) ने अपनी टीम में शामिल किया।