Tuesday, 14 April 2020

विराट के आने से पहले डरा कंगारु, कोहली को माना सुपरस्टार तो पुजारा को बनाया टीम इंडिया की नई दीवार


मेलबर्न (आईएएनएस)। साल के अंत में चार टेस्ट मैचों की सीरीज में भारत की मेजबानी करने की उम्मीद में ऑस्ट्रेलिया के ऑफ स्पिनर नाथन लॉयन ने विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा की तारीफों के पुल बांधे हैं। लॉयन ने विराट को सुपरस्टार और पुजारा को टीम इंडिया की नई दीवार बताया है। लॉयन ने खुलासा किया है कि वह और उनके तेज गेंदबाजी टीम के साथी इस बात पर चर्चा कर रहे हैं कि फैंस के बिना विराट कोहली को खेलने में कैसा लगेगा। 2020 दिसंबर में भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज शेड्यूल है, मगर कोविड 19 महामारी के चलते यह संकट में पड़ सकती है।
विराट को देखना काफी आश्चर्यजनक होगा
ईएसपीएन क्रिकइन्फो ने लॉयन के हवाले से लिखा, कि ये ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर आने वाले भारत-ऑस्ट्रेलिया सीरीज को लेकर काफी एक्साइटेड है। लॉयन कहते हैं, यह सुनने में काफी अजीग लगता है। मैं वास्तव में मिच स्टार्क से बात कर रहा था और हमने वास्तव में कहा था कि अगर हम बिना किसी भीड़ के साथ खेल रहे हैं, तो विराट को देखना काफी आश्चर्यजनक होगा। यह थोड़ा अलग हो सकता है। विराट एक सुपरस्टार हैं। वह कहीं भी जाते हैं, एक माहौल बना देते हैं मगर फैंस के बिना मुकाबला अलग होगा।
पिछली बार कंगारुओं को मिली थी हार
ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज स्पिनर ने कहा कि वह भारत के ऑस्ट्रेलिया खेलने आने की संभावना से बहुत उत्साहित हैं क्योंकि बॉर्डर-गावस्कर श्रृंखला एशेज के साथ सबसे बड़ी टेस्ट सीरीज मानी जाती है। बता दें पिछली बार 2018 में टीम इंडिया कंगारुओं को उनके घर 2-1 से हराकर आई थी। 1947 के बाद यह पहली बार था, जब भारत ने टिम पेन की अगुवाई वाली टीम को 2-1 से हराकर टेस्ट सीरीज जीत दर्ज करने में सफल रहे। लॉयन कहते हैं, "भारत क्रिकेट की दुनिया का पावरहाउस है। फैंस के सामने खेलना या न खेलना, यह हमारे नियंत्रण से बाहर है। हमें दुनिया भर के सभी चिकित्सा निर्देशों का पालन करना है।
पुजारा हैं टीम इंडिया की नई दीवार
बता दें 2018-19 श्रृंखला में, भारत की जीत में चेतेश्वर पुजारा का अहम योगदान रहा था। तब पुजारा के बल्ले से तीन शतक निकले थे। उस वक्त वह हाईएस्ट रन स्कोरर थे। लॉयन के अनुसार, ऑस्ट्रेलिया को इस बार पुजारा के लिए अपना दृष्टिकोण बदलना होगा। मुझे लगता है कि जब आप भारतीय टीम को देखते हैं, तो पुजारा को थोड़ा कम आंकते हैं। जाहिर है आप रहाणे और विराट और इन लोगों को देखते हैं लेकिन पुजारा एक दीवार है। उन्हें टीम इंडिया की नई दीवार कह सकते हैं।