Wednesday, 22 April 2020

बाबूजी जरा धीरे चलो से रातों-रात पॉपुलर हुई थीं ये एक्ट्रेस, बिता चुकी हैं ओशो के आश्रम में वक्त


जापान में मॉडलिंग के बाद याना इंडिया आई थी याना
इंडिया में शादी के बाद याना ने बदला अपना सरनेम
लैक्में जैसे कई बड़े ब्रांड्स के लिए मॉडलिंग कर चुकी हैं याना गुप्ता
मुंबई : बॉलीवुड फिल्म 'दम' का फेमस गाना 'बाबू जी जरा धीरे चलो' ...बिजली खड़ी यहां बिजली खड़ी, नैनों में चिंगारियां...गोरा बदन शोलों की लड़ी' तो हर किसी ने सुना ही होगा। ये गाना उस दौरान बहुत ही ज्यादा फेमस हुआ था और आज तक लोगों की जुंबा पर है। इस गाने में याना गुप्ता ने बेहतरीन लटके-झटके दिखाए थे जिन्हें देखकर हर कोई याना का फैन हो गया था। आज वे अपना 41वां जन्मदिन मना रही हैं। हालांकि वे इन दिनों फिल्मों से दूर चल रही हैं।
कौन हैं याना गुप्ता
याना गुप्ता का जन्म चेकोस्लोवाकिया में हुआ था। उनका असली नाम याना स्योनकोवा है। 16 साल की उम्र में ही याना शॉर्ट फिल्म्स, मॉडलिंग और ऐड करने शुरू कर दिए। वे उन दिनों जापान में थीं। याना ने काफी बड़े -बड़े ब्रांड के लिए काम किया हुआ है। वे न सिर्फ लैक्मे की ब्रांड एम्बेसडर बल्कि काल्विन क्लेन, विक्टोरिया सीक्रेट और किंगफिशर की सबसे फेमस मॉडल्स में से एक रही हैं। हालांकि असली पहचान उन्हें 'बाबूजी जरा धीरे चलो' गाने के बाद मिली।
कैसे पहुंची इंडिया
जापान में मॉडलिंग के बाद याना इंडिया आ गईं। यहां शुरुआती दिनों में पुणे स्थित ओशो के आश्रम में भी रहीं। याना इंडिया आने के अगले 6 महीने में ही वे मॉडलिंग सर्किट में गज़ब की पॉपुलर हो गईं। उन्होंने रोहित बल, रीना ढाका, सुनील मेहरा और रॉकी एस जैसे फैशन डिज़ाइनर्स के लिए मॉडलिंग की। उनकी बढ़ती पॉपुलैरिटी को देखते हुए इंडिया की सबसे बड़ी फैशन ब्रांड लैक्मे ने फेमस मॉडल और एक्ट्रेस लीज़ा रे को हटा दिया। साल 2002 में याना के साथ तीन साल का अनुबंध किया। इन सब के अलावा वो इंडिया में लिम्का और एमटीवी के साथ भी जुड़ी हुई थीं। देखते ही देखते इंडस्ट्री के अंदर उन्होंने अपनी एक अलग पहचान बना ली। यहीं से याना को फिल्मों में करने का ऑफर आने शुरू हो गए। उन्होंने कुछ तमिल फिल्मों में गेस्ट रोल किए लेकिन हिंदी फिल्मों में उन्हें सिर्फ आइटम नंबर ही मिल पाया।
क्यों आइटम सॉन्ग करती थी याना गुप्ता
बाबू जी जरा धीरे चलो ...ये गाना ऐसा हिट हुआ कि याना घर- घर में जानी जाने लगीं। ये इस गाने को बनाने वाले ने भी नहीं सोचा होगा। खैर गाना सुपर-डुपर हिट हु और याना गुप्ता इंडिया के घर-घर में जानी जाने लगीं। दम फिल्म में बाबू जी जरा धीरे चलो हिट होने के बाद याना ने फिर कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा। देखते दी देखते भारतीयों की जुबान पर चढ़ी याना ने इसके बाद तीन अल्बम और किये।अपनी बेहिसाब खूबसूरती और बोल्डनेस के दम पर याना को बॉलीवुड के कई आइटम सॉन्ग्स में नजर आईं। बकौल याना एक इंटरव्यू में बताया था कि वो आइटम सॉन्ग इसलिए करती हैं क्योंकि ये 1.5 से 3 लाख रुपए बनाने का सबसे आसान तरीका था।
एसे बदला था सरनेम
याना यहां इंडिया में एक आर्टिस्ट को दिल दे बैठी जिसका नाम सत्यकाम गुप्ता था। उन्होंने साल 2001 में याना ने सत्यकाम गुप्ता से शादी कर ली और अपने नाम के आगे गुप्ता जोड़ लिया। लेकिन दोनों का यह रिश्ता ज्यादा समय तक नहीं चल पाया। साल 2005 में याना अपने पति से तलाक ले लिया और दोनों अलग हो गए। ,साल 2003 में सुपर मॉडल याना को हॉटेस्ट वेजिटेरियन के सम्मान से नवाजा गया था। साल 2009 में वह राइटर बन गई और उन्होंने एक किताब लिखी। इस किताब का नाम है हाउ टू लव योर बॉडी एंड गेट द बॉडी यू लव।
याना की इस हरकत पर मचा था खूब बवाल
कई साल पहले याना की एक हरकत पर खूब बवाल मचा था और वे विवादों में घिर गईं थी। दरअसल इवेंट में वो शार्ट ब्लैक ड्रेस पहनकर पहुंची थीं। इस दौरान वो अंडरगारमेंट्स पहनना भूल गई थीं। बाद में याना को इस बात पर सफाई भी देना पड़ा था उन्होंने कहा था कि केवल जल्दबाजी में ऐसा हो गया। हलांकि लोगों ने उनकी इस हरकत को पब्लिसिटी स्टंट बताया था।
साल 2018 में किया आखिरी आइटम सॉन्ग
रिपोर्ट्स की मानें तो याना फिलहाल इंडिया में ही रह रही हैं। अंतिम बार 2018 में आई नील नीतिन मुकेश की फिल्म 'दशहरा' में भी एक आइटम नंबर किया था। उनके इंडस्ट्री से दूर होने की जो सामने आई है वो यह है कि साल 2008 के बाद से ही याना को आइटम सॉन्ग के ऑफर्स मिलने कम हो गए। यहीं से उन्होंने टीवी की इंडस्ट्री में कदम रखा। यहां उन्होंने खतरों के खिलाड़ी' (2008) और 'झलक दिखला जा- 4' (साल 2010) में बतौर कंटेस्टेंट दिखाई दीं । साल 2011 में लैला ओ लैला और 'मर्डर 2' (आ ज़री) जैसी फिल्मों में गाने कर कमबैक करने की कोशिश की, लेकिन वो नाकाम रही।