Thursday, 21 May 2020

पति-पत्नी के रिश्ते में क्यों आती है दरार ? इन 5 तरीकों से फिर से संबंध मजबूत हो जाएंगे ।


Google
प्राचीन काल से स्त्रियों को ज्यादा सम्मान या इज्जत नहीं मिली जितनी की मिलनी चाहिए थी और आज उन्हीं की वजह से हमें महिलाओं का सशक्तिकरण करने की जरूरत पड़ रही है। प्राचीन काल में बहुत सारे ऐसे उदाहरण है जहां स्त्रियों की मान मर्यादा को हमेशा ऊपर रखा गया है और स्त्री का सम्मान उनके समुदाय के सम्मान के भांति देखा गया। हम मानते भी हैं स्त्री और पुरुष जीवन के दो पहिए जिनमें से अगर 1 को मुसीबत होती है तो वह जीवन को भी प्रभावित करता है।
स्त्री और पुरुष के विवाह के पश्चात दोनों पति पत्नी के एक अटूट रिश्ते में बंध जाते हैं और इस रिश्ते की कदर करना और एक दूसरे का हर मोड़ पर साथ देना ही इस रिश्ते का असल उद्देश्य होता है। हमारे पुराण महा ग्रंथ भी पति पत्नी के इस वैवाहिक संबंध को एक उचित दर्जा देते हैं। फिर भी वर्तमान में हम देखते हैं कि महिलाओं का सशक्तिकरण तो बढ़ रहा है परंतु पति पत्नी के संबंध कहीं ना कहीं कमजोर दिखाई पड़ते हैं। आइए जानते हैं ऐसा क्यों होता है?

Google
सबसे पहली बात की महिला और पुरुष दोनों को भारत में संविधान के अनुसार मौलिक अधिकार दिए गए हैं वे अपने जीवन अपनी मर्जी के अनुसार जी सकते हैं। हम देखते हैं की विवाह के पश्चात कुछ लोगों के जीवन में इस अधिकार को लेकर जैसे महिला अगर पत्नी स्वतंत्र लाइफ जीने की कोशिश करती है, पति अगर काम से लौटते वक्त देरी कर दे या फिर किसी खास फेस्टिवल पर अपनी पत्नी/पति को सरप्राइज़ ना दे पाए तो उसके बाद छोटी-छोटी लड़ाइयां होती रहती हैं और आगे चलकर एक बड़े परिणाम के रूप में नजर आती हो चाहे तलाक हो या फिर एक पुरुष के दूसरे स्त्री के साथ संबंध या एक स्त्री के दूसरे पुरुष के साथ संबंध बनने लगते हैं और यह इस वैवाहिक संबंध को खत्म करने में तनिक भी देर नहीं लगाते।

Google
इन 5 तरीकों से पति और पत्नी के संबंधों को फिर से मजबूत कर सकते हैं
1. अगर आप के संबंध इस वक्त टूट चुके हैं और आप चाहते हैं की पुनः संबंध अच्छे हो जाएं तो सबसे पहले आपको अपने अंदर की इगो को बाहर निकालना है और बिना सोचे विचारे उसको कन्वेंस करने की कोशिश करनी। शायद थोड़ी देर लग जाए लेकिन अगर दोनों के दिल में जगह होगी तो रिश्ते फिर से मजबूत हो जाएंगे।
2. दूसरा यह रिश्ता एक दूसरे को जताने के लिए नहीं बना है। आपको छोटी छोटी चीजों को इग्नोर करते रहना चाहिेए। क्योंकि कंप्रोमाइज रिश्ते को मजबूत बनाने में एक अहम भूमिका निभाता है।
3. तीसरा आपको अपने परिवार के साथ थोड़ा सा समय निकालकर जरूर देना चाहिए अगर आपके बच्चे हैं तो बच्चों के लिए ही सही, नहीं है तो पति/ पत्नी के लिए आप वेकेशन पर टाइम स्पेंड कर सकते हैं जिससे एक दूसरे के दिल में अपनापन बढ़ेगा।
4. चौथा , पति/पत्नी को चाहिए कि वह किसी खास दिन जैसे बर्थडे, मैरिज एनिवर्सरी या फिर कोई खास दिन पर अपने स्थिति के अनुसार छोटे छोटे गिफ्ट दे सकते हैं जिससे एक दूसरे के दिल में और प्यार बढ़ेगा क्योंकि यह छोटी-छोटी खुशियां ही रिश्ते को और मजबूत करती हैं।
5. पांचवा सबसे महत्वपूर्ण पॉइंट है, की सभी को अपने रिलेटिव की इज्जत और सम्मान जरूर करना चाहिए चाहे वह आपकी पत्नी हो, पति हो, पिता हो, माता हो, बहन हो , भाई या फिर कोई खास दोस्त। सम्मान और इज्जत रिश्तो को एक अलग ही दर्जा देते हैं और यह रिश्ते को कभी भी कमजोर नहीं करता। हमेशा आप एक दूसरे के साथ सहायता करने के लिए खड़े रहे । क्योंकि सच्चा रिश्ता वही जो आपकी मुसीबत में आपकी सहायता करें।
आप अपना सुझाव कमेंट करके जरूर बताएं।