Friday, 29 May 2020

प्रवासी मजदूरों की हालत देख छलका सोनू सूद का दर्द, कहा- कभी ट्रेन के वॉशरूम के बगल में सोकर मैं भी आया था मुंबई


बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद लगातार भूखे लोगों को खाना खिलाने से लेकर प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाने तक काम कर रहे हैं। सोनू सूद ने मुंबई में फंसे प्रवासी मजदूरों के लिए सोशल मीडिया पर एक पोस्ट किया था। इस पोस्ट में लिखा गया, 'मेरे प्यारे श्रमिक भाइयों और बहनों। अगर आप मुंबई में है और अपने घर जाना चाहते हैं तो कृपया इस नंबर पर कॉल करें 18001213711 और बताएं कि आप कितने लोग हैं, अभी कहां पर हैं और कहां जाना चाहते हैं। मैं और मेरी टीम जो भी मदद कर पाएंगे हम जरूर करेंगे।'
इस पोस्ट के बाद से ही रोजाना सोनू सूद के पास ऐसे लोगों की मदद के लिए लगातार मैसेज आ रहे हैं। वहीं सोनू सूद ने हाल ही में कहा है कि वह जब तक हर एक प्रवासी को उनके घर नहीं पहुंचाते हैं उनका ये काम जारी रहेगा। सोनू सूद के ऐसा करने के पीछे का कारण उनका पुराना अनुभव रहा है। उन्होंने इस तरह की परेशानियों का सामना किया है, जो आज प्रवासी मजदूर कर रहे हैं। एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने खुद इस बारे में विस्तार से जानकारी दी।
सोनू सूद ने बताया कि मैं प्रवासी मजदूरों की मदद इसलिए कर रहा हूं कि मैं भी कभी प्रवासी था, जो अपनी आंखों ढेर सारे सपने लेकर मुंबई आया था। मुझे तस्वीरों से पता चला कि वे कितनी परेशानी से गुजर रहे हैं। सोनू सूद के मुताबिक वह पहली बार बिना आरक्षित टिकट के ट्रेन से मुंबई आए थे और दरवाजे पर खड़े होकर और वॉशरूम के बगल में सोकर सपनों की नगरी पहुंचे थे।
यही वजह है कि सोनू इन प्रवासी मजदूरों के दर्द को दूसरों से बेहतर समझ पा रहे हैं। बिना खाना और पानी के हजारों किलोमीटर सड़कों पर पैदल चलने वाले मजदूरों की स्थिति को देखकर सोनू ने यह फैसला किया कि वह हर मजदूर को उसके घर तक पहुंचाने का काम करेंगे।