Friday, 26 June 2020

30 साल की औरत को इलाज के दौरान पता चला वह मर्द है, पढ़िए हैरान करने वाला किस्सा

30 years old woman finds out she is a man during treatment in ...
पश्चिम बंगाल के कोलकाता में एक बेहद हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती एक 30 साल की महिला के सामने एक ऐसा चौंकानें वाला सच सामने आया है जिसने उसकी पूरी जिंदगी को बदलकर रख दिया है। 30 सालों तक बतौर महिला बिना किसी परेशानी के जिंदगी गुजारने के बाद हाल ही में उसे पता चला कि वह एक पुरुष है और Testicular Cancer से पीड़ित है। एबडॉमिनल पैन होने के बाद महिला को अस्पताल में भर्ती किया गया था, जहां इलाज के दौरान यह बात सामने आई।
आश्चर्यजनक तौर पर इस महिला की छोटी बहन जिसकी उम्र 28 साल हो चुकी है, विभिन्न टेस्ट के दौरान उसमें भी 'एंड्रोजन इंसेंसिविटी सिंड्रोम' पाया गया है। यह वह स्थिति है जब कोई भी शख्स जेनेटिक रुप से पुरुष (Male) पैदा होता है, लेकिन उसके भौतिक लक्षण महिलाओं के जैसे होते हैं।
जेनेटिक तौर पर पुरुष निकली ये महिला बीरभूम की रहने वाली है और 9 साल से शादीशुदा है। abdomen Pain के बाद वह कुछ महीनों पहले इलाज के लिए नेताजी सुभाष चंद्र बोस कैंसर हॉस्पिटल पहुंची थी। यहां डॉक्टरों को इलाज के दौरान महिला की असली पहचान का पता चला।
महिला का इलाज करने वाले डॉक्टरों का कहना है कि 'वह देखने में पूरी तरह से महिला नजर आती है। उसकी आवाज, शरीर का विकास और अन्य सभी अंग महिलाओं की तरह ही हैं। लेकिन, महिला में Uterus और Ovaries जन्म से ही नहीं हैं।' उन्होंने बताया कि इस तरह कि विरल स्थिति 22,000 हजार लोगों में से एक में पाई जाती है।
डॉक्टरों के मुताबिक 'महिला को पेडू में दर्द की शिकायत के बाद उसके क्लिनिकल टेस्ट किए गए थे। इसमें खुलासा हुआ कि उसके शरीर के अंदर testicles मौजूद हैं। बायोप्सी भी की गई, इसके बाद सामने आया कि उसे टेस्टीक्युलर कैंसर है।'
महिला, पति की डॉक्टर्स कर रहे काउंसलिंग
महिला और उसके पति के सामने इतना बड़ सच आने के बाद दोनों ही तनाव में आ गए। इसे देखते हुए डॉक्टर्स द्वारा दोनों की काउंसलिंग भी की गई। उन्होंने बताया कि 'व्यक्ति महिला की तरह बड़ा हुआ। लगभग एक दशक से आदमी के साथ शादीशुदा है। फिलहाल, हम मरीज और उसके पति की काउंसलिंग कर रहे हैं। उन्हें पहले की तरह ही जीवन जीने के लिए कहा है।'