Monday, 15 June 2020

कैसे कंगना रनौत ने खोली बॉलीवुड के नेपोटिस्म की पोल

Kangna Ranaut Expose Bollywood Hypocrisy On SUSHANT SINGH RAJPUT ...

जब से सुशांत सिंह राजपूत ने आत्महत्या कि है तब से उनको लेकर कई अलग-अलग तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। लेकिन कल से ही सोशल मीडिया पर लोग करण जोहार और आलिया भट्ट पर भी निशाना साध रहे हैं।आपको बता दें कि एक खबर के मुताबिक करन जौहर ने सुशांत सिंह राजपूत को फिल्म इसलिए देने से मना कर दिया था क्योंकि वह बड़े स्टार नहीं थे। इसके बाद आलिया भट्ट ने एक बार एक शो में सुशांत सिंह राजपूत का मजाक उड़ाया था और कहा था कि वह इस नाम के किसी अभिनेता को नहीं जानती। सुशांत सिंह  को अपने जीवन में कई बार आलोचनाओं का सामना करना पड़ा अपने साथी कलाकारों द्वारा। तो वहीं पर कंगना रनौत ने सुशांत सिंह राजपूत के आत्महत्या कांड को लेकर एक बार फिर हमला बोला बॉलीवुड पर और उन्होंने बताया कि कैसे बॉलीवुड का इकोसिस्टम काम करता है।

ख दिया है। उन्होंने कहा कि यह सिर्फ एक नैरेटिव चलाया जा रहा है कि उनका दिमाग कमजोर था और उन्होंने डिप्रेशन के कारण आत्महत्या की है उसकी वजह कुछ और थी। साथ ही उन्होंने कहा कि जिस लड़के ने इंजीनियरिंग में टॉप रैंक हासिल की हो, जो इतना पढ़ा लिखा हो, उसका दिमाग कैसे कमजोर हो सकता है कि वह आत्महत्या कर ले। कंगना राणावत ने कहा कि अगर उनके पिछले कुछ पोस्ट को देखा जाए तो उसमें वो साफ कह रहे है कि लोग मेरी फिल्में देखें क्योंकि मेरा कोई गॉडफादर नहीं है। मुझे इस इंडस्ट्री से निकाल दिया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि क्यों नहीं सुशांत को कोई डेब्यू फिल्म का अवार्ड मिला। छिछोरे ,धोनी ,कई पो छे जैसी हिट फिल्म देने के बावजूद भी सुशांत को आज तक कोई अवार्ड नहीं मिला जबकि गली बॉय जैसी वाहियाद फिल्म को सारे अवार्ड मिल जाते हैं।
इसके साथ ही कंगना  ने अपने ऊपर हो रहे हमले का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों के चमचे पत्रकार है वह मुझे भी ट्वीट और मैसेज करते रहते कि आप ऐसा वैसा कदम मत उठा लजिएगा।  संजय दत्त की एडिक्शन तो बहुत क्यूट लगती है लेकिन दूसरों की क्यों नहीं?  कंगना ने कहा कि यह लोग क्यों आत्महत्या जैसी बातें मेरे दिमाग में डालते हैं? तो ये सुसाइड है या प्लैनड मर्डर। इसके साथ ही कंगना राणावत ने कहा कि जो लोग बॉलीवुड की इकोसिस्टम को गंदा कर रहे हैं वह यह नहीं बताएंगे कि सच्चाई क्या है? वह तो यही चाहेंगे कि यह ऐसे लिखा जाए कि यह डिप्रेशन और कमजोर दिमाग के कारण आत्महत्या थी। वह सच्चाई नहीं बताएंगे।