Wednesday, 10 June 2020

करोड़पति सरपंच प्रत्याशी इनके पास विधायकों से भी ज्यादा संपत्ति-कैश है

जिले की 161 ग्राम पंचायतों में शुक्रवार को वोट डाले गए। श्रीमाधोपुर और खंडेला की 67 पंचायतों में 22 जनवरी को मतदान होगा। इनमें कई प्रत्याशियों की संपत्ति तो विधायकों से भी ज्यादा है। श्रीमाधोपुर पंचायत समिति की ग्राम पंचायत लिसाड़िया और सिमारला जागीर से चुनाव मैदान में उतरे जगदीश यादव और राजेंद्रसिंह शेखावत के पास विधायक दीपेंद्रसिंह से ज्यादा संपत्ति है। जगदीश यादव ने नामांकन के साथ प्रस्तुत किए शपथ पत्र में 1 करोड़ 30 लाख रुपए की संपत्ति बताई है। सिमारला जागीर से सरपंच पद के लिए मैदान में उतरे राजेंद्रसिंह ने शपथ पत्र में 3 लाख 50 हजार रुपए नगदी के साथ 1 कराेड़ 10 लाख की संपत्ति दर्शाई है। जबकि 2018 में विधायक का चुनाव लड़ने वाले दीपेंद्रसिंह के पास 1 कराेड़ और 8 लाख रुपए की चल-अचल संपत्ति थी।
प्रधान और विधायक झाबरसिंह खर्रा ने भी विधानसभा चुनाव में शपथ पत्र में 27 लाख रुपए की संपत्ति बताई थी। इसी तरह शिक्षा राज्यमंत्री गाेविंदसिंह डाेटासरा ने 2018 ने विधायक का चुनाव लड़ा तब उनके पास 1 लाख रुपए की नगदी थी। जबकि सिंगाेदड़ा ग्राम पंचायत से सरपंच पद के लिए मैदान में उतरे रामनिवास और राजेंद्रप्रसाद के पास उनसे ज्यादा नगदी है। रामनिवास ने शपथ पत्र में अपने पास 2 लाख रुपए की नगदी बता रखी है। इसके अलावा रामनिवास ने 34 लाख रुपए की चल संपत्ति भी दर्शाई है। जबकि राजेंद्रप्रसाद की जेब में 2 लाख तीस हजार रुपए की रकम है। शपथ पत्र में उन्हाेंने 31 लाख की अचल संपत्ति का विवरण दिया है। 
सीकर के लक्ष्मणगढ़ की सबसे अमीर उम्मीदवार राजकुमारी
लक्ष्मणगढ़ की बगड़ी ग्राम पंचायत से चुनाव लड़ रही राजकुमारी पंचायत समिति की सबसे अमीर उम्मीदवार हैं। राजकुमारी के पास 1 करोड़ 61 लाख रुपए की संपत्ति है। वे 2015 में निर्विरोध सरपंच चुनी गई थीं। अब वे दोबारा चुनाव लड़ रही हैं।