Friday, 12 June 2020

पेट दर्द को गैस समझती रही महिला, जब सच्चाई आई सामने तो कांप उठी रूह

लंदन में रहने वाली 26 वर्षीय शार्लोट कॉसलेमी पेट दर्द को गैस समझती रही। शारलोट के पेट में सूजन और दर्द था, जिसे उन्होंने गलती से सामान्य दर्द समझ लिया था। एक दिन उसके पेट में भयानक दर्द हुआ, जिससे शार्लोट को एहसास हुआ कि उसके पेट में कुछ चल रहा है। बहन की बढ़ती समस्या को देखते हुए, सर्लोट की बड़ी बहन उसे अस्पताल ले आई, जहाँ डॉक्टर ने रिपोर्ट देखकर कुछ ऐसा कहा कि दोनों की रूह कांप उठी।

Third party image reference
दरअसल, शार्लोट के पेट में 15 सेंटीमीटर का लिम्फोमा कैंसर का ट्यूमर था। यह ट्यूमर इतना बड़ा था कि डॉक्टरों ने इसे कंप्यूटर स्क्रीन पर जूम करके देखा। जब सरलाट को इस सच्चाई का पता चला तो वह रो पड़ी। शार्लेट ने बताया कि जब डॉक्टर हमारे पास इस सच्चाई को लेकर आए थे, तब मेरी बहन ने मेरे घुटने पर हाथ रखकर मेरी तरफ देखा और मेरी आँखों में आँसू आ गए। मैं डॉक्टर द्वारा बताई गई बातों को बर्दाश्त नहीं कर सकती थी इसलिए कमरे से बाहर आ गई।

Third party image reference
महिला का कहना है कि मैं इस बीमारी के लिए जिम्मेदार हूं, क्योंकि मैंने इसे सामान्य पेट दर्द माना है और इसका इलाज नहीं है। कुछ हद तक, इसके जिम्मेदार डॉक्टर भी हैं क्योंकि उन्होंने मेरे तरीके की जांच नहीं की। शार्लेट का कहना है कि मैंने इंटरनेट पर सर्च किया और पता चला कि इस स्टेज की बीमारी का कोई इलाज नहीं है, क्योंकि इस जगह को काटकर अलग नहीं किया जा सकता। यदि पहले चेतावनी मिलती थी तो किमो थेरेपी से इसका इलाज किया जा सकता था, लेकिन अब यह असंभव है।

Third party image reference
शार्लोट का कहना है कि वह अब कीमोथेरेपी के साथ अपना इलाज करवा रही है, जिसमें कुछ हद तक आराम है। महिला चाहती है कि कोई और इस तरह की बीमारी से पीड़ित ना हो, इसलिए उसने सोशल मीडिया पर अपनी कहानी साझा की है। इस पोस्ट में लिखा है कि 30 साल से कम उम्र के युवाओं को यह बीमारी है। आज के दौर में कई खतरनाक बीमारियां फैल गई हैं, इसलिए किसी भी बीमारी को हल्के में न लें। यह आपकी मौत का कारण बन सकता है