Wednesday, 17 June 2020

नेपोटिज्म की बहस के बीच सोशल मीडिया पर घटने लगे इन सेलेब्स के फॉलोअर्स

नेपोटिज्म की बहस के बीच सोशल मीडिया पर घटने लगे इन सेलेब्स के फॉलोअर्स
बॉलीवुड (Bollywood) एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के निधन के बाद सोशल मीडिया (Social Media) पर नेपोटिज्म (Nepotism) पर जमकर बहस हो रही है. सोशल मीडिया पर यूजर्स बॉलीवुड इंडस्ट्री में नेपोटिज्म पर बहस कर रहे हैं. सुशांत के निधन के बाद सोशल मीडिया पर यूजर्स सवाल कर रहे हैं कि आउटसाइडर्स को बॉलीवुड इंडस्ट्री में पैर जमाने में इतनी मेहनत क्यों लगती है? इस मामले पर ट्विटर पर तीखी बहस हो रही है. यूजर्स का कहना है कि आउटसाइडर्स को नहीं बल्कि बॉलीवुड इंडस्ट्री में सेलेब्स के बच्चों को मौका मिलता है. बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के इस बयान के बाद कई सेलेब्स ने इस ओर इशारा किया है. बॉलीवुड से नेपोटिज्म खत्म करने की मांग के साथ इंडस्ट्री के निर्देशक और अभिनेताओं को लोगोंं अनफॉलो कर दिया है.
इस बहस के बीच करण जौहर के फॉलोवर्स तेजी से कम हुए हैं. न्यूज 18 की एक खबर के मुताबिक, नेपोटिज्म को लेकर करण जौहर को मुख्य रूप से सोशल मीडिया पर निशाना साधा गया. करण जौहर के इंस्टाग्राम फॉलोअर्स कम हुए हैं. करण के 11 मिलियन फॉलोअर्स थे, जो अब गिरकर 10.9 मिलियन हो गए हैं. आलिया भट्ट के इंस्टाग्राम से करीब 1 लाख फॉलोअर्स कम हुए हैं. एक्टर सलमान खान के फॉलोअर्स भी कम हुए हैं.
वहीं, सोमवार की रात से मंगलवार की शाम के बीच कंगना रनौत की टीम के इंस्टाग्राम अकाउंट के फॉलोअर्स बढ़े हैं. कंगना की टीम के इंस्टाग्राम अकाउंट पर पहले 2 मिलियन फॉलोअर्स थे, वहीं अब उनके 3.5 मिलियन फॉलोअर्स हो गए हैं.आपको बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद कंगना की टीम ने इंस्टाग्राम अकाउंट पर वीडियो शेयर किया था. इस वीडियो में कंगना ने सुशांत के सुसाइड को प्लांड सुसाइड बताया था. कंगना ने सुशांत की मौत पर दुख जाहिर करते हुए बॉलीवुड पर अपना गुस्सा जाहिर करते हुए कहा था कि ‘सुशांत की मौत ने हम सबको तोड़कर रख दिया है. मगर कुछ लोग इस बात में माहिर हैं कि कैसे इसके उलट बात कहनी है. वह कह रहे हैं कि जिनका दिमाग कमजोर होता है, वह डिप्रेशन में आते हैं और सुसाइड करते हैं.’
कंगना ने आगे कहा, ‘जो बंदा इंजीनियरिंग में टॉप करता है. रैंक होल्डर है. उसका दिमाग कैसे कमजोर हो सकता है. अगर उनकी कुछ अंतिम पोस्ट देखें तो वह लोगों से कह रहे हैं कि वह उनकी फिल्में देखें, नहीं तो उन्हें इस इंडस्ट्री से निकाल दिया जाएगा. उनका कोई गॉड फादर नहीं है. मैं चकित हूं कि क्या इस हादसे की कोई बुनियाद नहीं है. सुशांत को छह साल के करियर में काई पो चे जैसी फिल्म देने के बाद भी कोई सराहना और अवॉर्ड नहीं मिला.’
कंगना ने आगे कहती हैं, ‘छिछोरे जैसी फिल्म को कोई अवॉर्ड नहीं मिला. गली बॉय जैसी एक वाहियात फिल्म को कई अवॉर्ड मिलते हैं. हमें आपसे कुछ नहीं चाहिए, लेकिन हम जो काम करते हैं, कम से कम उसकी सराहना तो करिए. क्यों मुझ पर 6 केस लगाए गए. क्यों मेरी फिल्मों को फ्लॉप घोषित किया गया. लोग मुझे मैसेज करके बोलते हैं कि तुम्हारा बहुत मुश्किल समय है. कोई ऐसा-वैसा कदम मत उठाना. ऐसा क्यों कहते हैं मुझे, मेरे दिमाग में ऐसी बातें क्यों डालते हैं. यह सुसाइड नहीं यह प्लान्ड मर्डर था. सुशांत की गलती यही है कि वह उनकी बात मान गया कि तुम वर्थलेस हो, वो मान गया. उसने अपनी मां की नहीं सुनी. हमें यह चुनना है कि इतिहास कौन लिखेगा.’