Monday, 15 June 2020

सुशांत सिंह राजपूत की मौत से टूट गया माही फैमिली का दिल, साक्षी धोनी ने क्या लिखा-पढ़ लीजिए


फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की खुदकुशी से हर कोई हैरान है। बॉलीवुड के साथ ही पूरे देश में इस नवजवान और टैलेंटेड एक्टर की मौत पर लोग दुख जता रहे हैं। सुशांत सिंह राजपूत ने देश के सबसे पॉपुलर क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी के जीवन पर बनी बायोपिक 'एमएस धोनी : द अनटोल्ड स्टोरी ' में धोनी की भूमिका निभाई थी। इस फिल्म ने देश और विदेशों में सफलता के झंडे गाड़े थे। सुशांत सिंह राजपूत से धोनी और उनकी फैमिली के बहुत करीबी रिश्ते थे। उनकी मौत की खबर मिलने के बाद धोनी का परिवार शोक में डूबा हुआ है। महेंद्र सिंह धोनी की पत्नी साक्षी धोनी ने ट्वीट किया है - Still cant believe this #SushantSinghRajput Gone too soon💔: साक्षी धोनी।
धोनी फैमिली से हुआ करीबी जुड़ाव
धोनी पर बायोपिक बनाने का आइडिया 2011 के वर्ल्ड कप के बाद आया था। इस पर काम 2013 में शुरू हुआ। जब धोनी की भूमिका निभाने के लिए सुशांत सिंह राजपूत का चुनाव किया गया तो वे धोनी और उनकी फैमिली के काफी करीब आ गए।
धोनी और सुशांत बन गए गहरे दोस्त
बायोपिक बनने के दौरान सुशांत और धोनी का अक्सर मिलना-जुलना होता था। एक साथ उनका काफी वक्त बीतता था। जाहिर है, इससे सुशांत और धोनी के बीच गहरी दोस्ती हो गई। खुद पर बन रही फिल्म के धोनी मुख्य कन्सल्टेंट थे।
सब रखते थे सुशांत का ख्याल
बायोपिक बनने के दौरान सिर्फ धोनी से ही नहीं, बल्कि उनकी फैमिली के सभी लोगों से सुशांत सिंह राजपूत की नजदीकी बढ़ी। वे सबसे घुल-मिल गए। धोनी की वाइफ साक्षी भी सुशांत सिंह को काफी पंसद करती थीं और जब वे उनके घर आते थे, तो उनका काफी ख्याल रखती थीं।
बन गया था घरेलू रिश्ता
इस बायोपिक बनने के दौरान धोनी और सुशांत सिंह इतने करीब आ गए कि उनके बीच घरेलू रिश्ता बन गया था। दोनों के बीच बहुत अच्छी बॉन्डिंग थी।
सुशांत भी बनना चाहते थे क्रिकेटर
महेंद्र सिंह धोनी और सुशांत सिंह राजपूत, दोनों ही साधारण परिवारों से आए थे और अपने करियर में सफलता हासिल की थी। यह भी एक वजह थी कि दोनों के बीच नजदीकी बढ़ती गई। सुशांत सिंह ने एक बार कहा था कि पहले वे भी क्रिकेटर बनना चाहते थे।
फिल्म में उनके रोल से धोनी थे प्रभावित
खुद पर बनी बायोपिक में सुशांत सिंह ने जैसी भूमिका निभाई थी, इससे महेंद्र सिंह धोनी बेहद प्रभावित थे। सुशांत ने उनकी भूमिका में जान डाल दी थी। हर किसी एक्टर के वश की यह बात नहीं थी कि वह माही को फिल्मी पर्दे पर जीवंत कर दे।
सुशांत सिंह ने की थी कड़ी मेहनत
महेंद्र सिंह धोनी जैसे क्रिकेटर का रोल निभाना आसान काम नहीं था। इस बायोपिक में धोनी के जन्म से लेकर उनके करियर के हर पड़ाव का संघर्ष दिखाया गया था। इसके लिए सुशांत सिंह को बहुत मेहनत करनी पड़ी थी। फिल्म में धोनी की भूमिका से न्याय करने के लिए उन्होंने क्रिकेट की कड़ी ट्रेनिंग ली थी।
सचिन तेंदुलकर ने भी की थी प्रशंसा
बायोपिक में धोनी का रोल करने के लिए सुशांत सिंह ने जितनी कड़ी ट्रेनिंग ली थी, उसे देख कर सचिन तेंदुलकर ने भी उनकी प्रशंसा की थी। उनकी ट्रेनिंग को देख कर कोई भी कह सकता था कि सुशांत क्रिकेट में भी बेहतर परफॉर्मेंस कर सकते हैं।
सीखी क्रिकेट की बारीकियां
धोनी की बायोपिक में काम करने की वजह से सुशांत सिंह को क्रिकेट की बारीकियां सीखने का मौका मिला। उन्होंने महीनों तक किरण मोरे की देख-रेख में बल्लेबाजी और विकेटकीपिंग की ट्रेनिंग ली।
सुशांत को मिली थी जबरदस्त पॉपुलैरिटी
धोनी पर बनी बायोपिक सुपरहिट रही थी। इससे सुशांत सिंह राजपूत को जबरदस्त पॉपुलैरिटी मिली थी। इस एक फिल्म से देश के साथ विदेशों में भी उनकी फैन फॉलोइंग काफी बढ़ गई थी।