Monday, 6 July 2020

NewsWrap: LAC पर पीछे हटी चीनी सेना, पढ़ें सोमवार शाम की 5 बड़ी खबरें


एलएसी पर लगभग दो महीने तक चली तनातनी के बाद आखिरकार चीन की सेना पीछे हट गई है. वहीं, देश में कोरोना मरीजों की तादाद सात लाख के पार पहु्ंच गई है. बस में सवार एक बच्ची को बस कंडक्टर ने कोरोना के खौफ के कारण बस से बाहर फेंक दिया. इसके अलावा कानपुर केस के मुख्य आरोपी विकास दुबे पर इनाम 50 से बढ़ाकर अब 2.5 लाख कर दिया गया है.
1- LAC पर पीछे हटी चीनी सेना, अजित डोभाल और चीनी विदेश मंत्री की बात में बनी सहमति
भारत और चीन के बीच बॉर्डर पर तनाव कम करने की कोशिश हो रही है. LAC पर इसका असर दिखना शुरू हो गया है और चीनी सेना गलवान घाटी से 1-2 किमी. पीछे हटी है. राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने रविवार को चीनी विदेश मंत्री वांग यी से बात की थी, जिसके बाद दोनों देशों के बीच ये सहमति बन पाई है. वांग ली ही चीन के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार भी हैं.
2- देश में बढ़ रहा कोरोना का खतरा, मरीजों का आंकड़ा 700000 के पार
देश में कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है. हर रोज कोरोना मरीजों की संख्या में इजाफा देखने को मिल रहा है. वहीं अब देश में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या सात लाख के पार हो चुकी है. वहीं दुनिया में भारत सबसे ज्यादा कोरोना प्रभावित देशों में तीसरे नंबर पर है.
3- कोरोना के संदेह में लड़की को कंडक्टर ने चलती बस से फेंका, मौके पर मौत
कोरोना वायरल के खौफ के कारण एक लड़की की जान चली गई. बस ड्राइवर और कंडक्टर ने उस पर कोरोना संक्रमित होने का संदेह जताया और मथुरा टोल प्लाजा के पास चलती बस से फेंक दिया, जहां उसकी मौत हो गई. यह लड़की पूर्वी दिल्ली के मंडालवी इलाके की रहने वाली थी.
4- MP में विभागों के बंटवारे को लेकर रस्साकशी, शिवराज ने बीजेपी लीडरशिप से मांगे निर्देश
बीजेपी के टॉप सूत्रों के मुताबिक चौहान अपने भरोसेमंद सहयोगियों के लिए गृह, स्वास्थ्य, वित्त, जल संसाधन, परिवहन और जनसंपर्क जैसे विभाग रखने के इच्छुक हैं. वहीं सिंधिया इनमें से कई विभाग अपने विश्वासपात्रों को दिए जाने के लिए जोर लगा रहे हैं.
5- 50 घंटे में 5 गुना बढ़ा विकास दुबे पर इनाम, 40 टीमें कर रही हैं तलाश
डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने कानपुर शूटआउट के मुख्य आरोपी विकास दुबे पर ढाई लाख रुपये का इनाम घोषित किया है. सबसे पहले विकास दुबे पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित था, जिसे एक लाख रुपया किया गया था. आईजी ने इनाम को ढाई लाख रुपये करने के लिए डीजीपी को खत लिखा था.